Home राजनीति क्या बिहार में बीजेपी के नेता फैला रहे हैं कोरोना वायरस? तेजस्वी...

क्या बिहार में बीजेपी के नेता फैला रहे हैं कोरोना वायरस? तेजस्वी यादव ने सरकार पर बोला बड़ा हमला

बिहार बीजेपी के मुख्य कार्यालय में कई बीजेपी नेता कोरोना से संक्रमित पाए गये हैं. करीब 100 लोगों का सैम्पल लिया गया था जिसमें से 75 बीजेपी के नेता कोरोना से संक्रमित हो गये हैं. कोरोना वायरस संक्रमण के बीच बीजेपी लगातार वर्चुअल रैली कर रही है. कहीं ना कहीं इसके लिए भीड़ इकट्ठा की जा रही है और इसका खामियाजा बिहार के 75 नेताओं को भुगतना पड़ रहा है.

एक तरफ जहाँ बिहार के कई अस्पतालों से मरीजों के मर जाने के बाद कई घटें तक शव के ऐसे ही पड़े रहने की ख़बरें सामने आ रही हैं. वहीँ दूसरी तरफ बीजेपी के नेता वर्चुअल रैली की तैयारी में व्यस्त हैं. इतना ही नही वर्चुअल रैली में लगे लगभग 75 नेताओं को कोरोना वायरस संक्रमण हो चुका है. हालाँकि ये आकड़ा शायद ही यहाँ रुक जाए क्योंकि नेताओं के सम्पर्क में अन्य लोग भी आये होंगे और उनके जरिये कोरोना संक्रमण के और फैलने का अंदेशा बना हुआ है.

बीजेपी को चुनाव की चिंता, कोरोना से मर रहे हैं लोग 

वहीँ वर्चुअल रैली की तैयारियों में लगे बीजेपी के नेताओं पर तेजस्वी यादव ने हमला बोला है. उन्होंने कहा कि वर्चुअल रैली की तैयारियों में लगे बीजेपी के नेता संक्रमण को और फैला रहे हैं. ये पॉजिटिव पाए गये लोग कौन सी जमात हैं? बीजेपी के नेताओं कि चुनाव की चिंता है और यहाँ लोग कोरोना की वजह से मर रहे हैं. तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि बीजेपी के नेता चुनाव में व्यस्त है और जनता के लिए कोई व्यवस्था नही है चारो तरफ अव्यवस्था फैली हुई है.

इतना ही नही तेजस्वी यादव ने ट्वीट के जरिये भी निशाना साधा है उन्होंने लिखा कि मुख्यमंत्री आवास में परिवार समेत 85 लोग कोरोना पॉज़िटिव. वर्चुअल रैली के कारण बिहार BJP के 75 नेता संक्रमित. उपमुख्यमंत्री आवास के निजी स्टाफ सहित अनेक लोग संक्रमित. मुख्य सचिव और सचिवालय के अनेक कर्मचारी संक्रमित. बिहार में जब मुख्यमंत्री/ उप-मुख्यमंत्री, मंत्री सुरक्षित नहीं है तो आम आदमी का क्या?”

दरअसल आपको यहाँ ये बता दें कि जेडीयू और बीजेपी लगातार चुनाव की तैयारियों में लगी हुई है. वर्चुअल रैली के माध्यम से बीजेपी और जेडीयू प्रचार प्रसार में लगी हुई है लेकिन आरजेडी का कहना है कि वर्चुअल रैली करना उसके लिए संभव नही है. अगर चुनाव करवाना ही है तो उसे भी रैली और डोर टू डोर कैम्पेन करने की इजाजत दी जाए. लोगों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए लोगों के बीच जाने कि इजाजत दी जाये. हालाँकि कोरोना का हवाला देते हुए आरजेडी को ये सब करने की अनुमति नही मिल पा रही है.

अगर चुनाव कराना ही है तो हमें भी दी जाये प्रचार करने की अनुमति 

वहीँ राज्य में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढती जा रही है. यहाँ आपको यह भी बता देना जरूरी है कि बीजेपी ने पिछले कुछ दिनों से कोरोना वायरस के बीच में अपने कैम्पेन कर रही है. लगभग सभी राज्यों के साथ वर्चुअल रैली के माध्यम से बातचीत हो रही है लेकिन अन्य पार्टियाँ ये सब करने में अभी सक्षम नही है. इसी बात का हवाला देते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि एक तरफ प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या बढती जा रही है, उनके स्थिति बेहाल है, अपस्ताल की स्थिति नही सुधारी जा रही है लेकिन बीजेपी और जेडीयू के कार्यकर्ता चुनाव प्रचार में लगे हैं.

आपको बता दें कि बिहार में कोरोना वायरस के अब तक 17959 मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें से 160 लोगों की जान जा चुकी है. 12,317 लोग कोरोना को मात देने में सफल रहे हैं जबकि 5,482 लोगों का इलाज चल रहा है. पिछले दिनों बिहार में कोरोना के नए मामलों में तेजी दिखाई दी है.