Coronavirus: भारत में ट्रायल के आखरी चरण में ‘Covidshield’ वैक्सीन

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के इलाज के लिए “Covidshield” वैक्सीन विकसित किया है. भारत में मंगलवार से इसका क्लीनिकल ट्रायल भी शुरू कर दिया गया है.

Coronavirus: भारत में ट्रायल के आखरी चरण में "Covidshield" वैक्सीन
Credit: IndiaSpend

देश में Coronavirus का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. अभी तक भारत में कोरोना से लगभग 31 लाख से भी ज्यादा लोग संक्रमित हो चुकें है वहीं, 57 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. इससे बचाव के लिए आज से, पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII), ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित कोरोना वायरस वैक्सीन (COVID-19 vaccine) का फेज -2 क्लीनिकल ट्रायल शुरू होने जा रहा है. ये भी पढ़ें- Greta Thunberg supports postpone of JEE, NEET 2020 exams

एसआईआई में सरकार एवं विनियामक मामलों के अतिरिक्त निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने कहा ‘हमें केंद्रीय औषधि मानक एवं नियंत्रण संगठन से सभी मंजूरी मिल गई है. हम 25 अगस्त से भारती विद्यापीठ चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल में मानव क्लीनिकल परीक्षण शुरू करने जा रहे हैं.’

Coronavirus being developed at SII institute
Credit: VCCircle

एक रिपोर्ट में कहा गया है कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की वैक्‍सीन कोविशील्ड, 73 दिन के भीतर बाजार में उपलब्‍ध होगी. वहीं दूसरी और कंपनी का कहना है कि यह केवल एक कयास है. वैक्‍सीन बाजार में तभी आएगी जब ट्रायल सफल हो जाएगा और रेगुलेटरी अथाॅरटी से अप्रूवल मिल जाए।

‘नेचर’ जर्नल में प्रकाशित एक स्‍टडी के मुताबिक, बंदरों पर किए गए वैक्‍सीन ट्रायल पूरी तरह असरदार साबित हुई हैं. उनमें कोविड-19 के प्रति इम्‍यूनिटी डेवलप हुई. इंसानों पर फेज 1 और 2 ट्रायल पूरा हो चुका है. 17 सेंटरों पर 1600 लोगों के बीच यह ट्रायल 22 अगस्त से शुरू हुआ है। हर सेंटर पर करीब 100 वालंटिअर हैं। नवंबर तक ट्रायल पूरा होने की उम्‍मीद है।