जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ गुफा के पास बादल फटा

शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर हिमालय में पवित्र अमरनाथ गुफा मंदिर के आधार शिविर के पास बादल फटने की दुर्घटना हुई।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 40 लोग लापता बताए जा रहे हैं और अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है।

पवित्र गुफा मंदिर के शिविर के पास बादल फटने की खबरें हैं। अधिकारियों के अनुसार, बादल फटने के बाद गुफा क्षेत्र में शाम करीब साढ़े पांच बजे मूसलाधार बारिश के बाद हुई।

अधिकारियों ने बताया कि पानी के बहाव से कई लंगर प्रभावित हुए हैं, प्रतिक्रिया में पुलिस और अन्य नागरिक प्रशासन ने बचाव कार्य शुरू कर दिया है। तीर्थस्थल के बाहर का आधार शिविर बाढ़ की चपेट में आ गया, जिसने तीन सांप्रदायिक रसोई को नष्ट कर दिया, जहां तीर्थयात्रियों को भोजन दिया जाता है और साथ ही 25 टेंट भी। इस साल भीषण मौसम ने अमरनाथ यात्रा के लिए कई मुश्किलें खड़ी कीं।

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) अब बचाव अभियान चला रहे हैं।

अन्य संगठन भी इसमें शामिल हुए हैं।

दो साल के अंतराल के बाद इस साल 30 जून को फिर से तीर्थयात्रा शुरू हुई।

तब से अब तक 72,000 से अधिक तीर्थयात्रियों ने प्रार्थना की है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर सरकार और संघीय सैनिकों को यह गारंटी देने का आदेश दिया कि बादल फटने से प्रभावित लोगों के लिए बचाव के प्रयास जल्द किए जाएंगे।