इस देश के इंजिनियरों ने किया गजब कारनामा, 7600 टन की बिल्डिंग को उठाकर दूसरी जगह पर रखा !

दुनिया में इंजिनियरिंग के अजब-गजब नमूने देखने को मिलते हैं. कहीं अनोखे पुल तो कहीं अनोखे तकनीक का इस्तेमाल कर बड़ी-बड़ी इमारते बनाई जा रही है. चीन के शंघाई शहर में इंजिनियरों ने कुछ ऐसा कर दिखाया है जिसकी उम्मीद किसी को नही थी. यहां 7600 टन एक विशालकाय इमारत को उसकी जगह से खिसकाकर दूसरी जगह पर ले जाया गया है. इंजिनियरों ने अद्भुत तकनीक का प्रयोग करते हुए 1935 मे बनी शंघाई के लागेना प्राथमिक विद्यालय की 5 मंजिला इमारत को उसकी जगह से उठाकर कुछ दूरी पर ले गए.

चीनी इंजिनियर
Photo-amarujala.com

स्थानीय प्रशासन के अनुसार इस पुरानी इमारत के पास ही एक नया प्रोजेक्ट तैयार किया जा रहा है लेकिन जगह कम पड़ने पर इस बिल्डिंग को उसकी जगह से खिसकाने का निर्णय लिया गया.

चीन मे इंजिनियरों का कमाल

इंजीनियरों के पास इस बिल्डिंग को गिराने का भी विकल्प था लेकिन उन्होंने इस ऐतिहासिक इमारत को उसकी जगह से उठाकर दूसरे जगह पर शिफ्ट करने का निर्णय लिया. चीनी मीडिया ने बताया है कि इंजीनियरों की टीम ने तकनीक की मदद से बिल्डिंग को उठाया और फिर उसे 198 रोबोटिक टांगों की मदद से उसे कुछ दूर ले गए. कांक्रीट से बनी हजारों टन की इस इमारत को उसकी जगह से करीब 62 मीटर दूर खिसकाया गया. इमारत को एक जगह से दूसरी जगह शिफ्ट करने का काम 18 दिनों में पूरा किया गया. बताया गया है कि 15 अक्टूबर को बिल्डिंग को पूरी तरह से शिफ्ट किया गया.

चीनी इंजिनियर
Photo-amarujala.com

अब इमारत को संरक्षित किया जाएगा

न्यूज एजेंसी के अनुसार स्थानीय प्रशासन ने अब इस ऐतिहासिक इमारत को संरक्षित करने का निर्णय लिया है. इसीलिए इसका मरम्मत कराया जा रहा है. ऐसी बड़ी इमारतों को बड़े प्लेटफार्म की मदद से शिफ्ट किया जाता है जिसमें ज्यादा क्षमता वाली रेल या क्रेन शामिल होती हैं. लेकिन इस बार चीनी इंजीनियरों ने रोबोटिक लेग्स का इस्तेमाल किया जिसमें पहिए लगे थे. इस तकनीक का पहली बार इस्तेमाल किया गया.

Also read-  Wanna Know Benefits Of Binge Watching? Learn How An 18 Year Old Saves 75 Lives Before Building Collapses

चीनी इंजिनियर पहले भी कर चुके हैं ऐसा कारनामा

यह कोई पहली बार नही है जब शंघाई के इंजिनियरों ने बिल्डिंग को इस तरह से शिफ्ट किया है. इससे पहले साल 2017 में 135 साल पुराने और करीब 2 हजार टन वजन वाले ऐतिहासिक बौद्ध मंदिर को उसके स्थान से 30 मीटर खिसकाया गया था. इसे 30 मीटर खिसकाने में 15 दिन लगे थे. यही नही इस साल की शुरुआत मे चीन के वुहान शहर में कोरोना संक्रमण तेजी से फैला था जिसके बाद चीनी इंजिनियरों ने 10 दिन में हजार बेड का अस्पताल बना दिया था.