सुशांत केस में BMC ने पटना SP विनय तिवारी को क्वारनटीन से छोड़ा, लेकिन रखी ये है शर्त!

फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुंबई पहुंचे पटना एसपी विनय तिवारी को BMC ने नियमों का हवाला देते हुए क्वारनटीन कर लिया था। इस कदम के बाद बीएमसी की काफी आलोचना भी हुई। यहां तक सुप्रीम कोर्ट तक ने ये कह दिया कि इस कदम से अच्छा संदेश नहीं गया है। आखिर इतनी फजीहत के बाद BMC ने IPS विनय तिवारी को क्वारनटीन से छोड़ दिया है। हालांकि बीएमसी ने इसके साथ ही विनय तिवारी के लिए कुछ शर्तें भी रखी हैं।

Vinay Tiwari IPS

बता दें कि BMC ने विनय तिवारी को छोड़ने का फैसला रिटर्न टिकट दिखाने के बाद लिया है। इस फैसले के साछ बीएमसी की ओर से कुछ शर्त रखी गई हैं। इसके मुताबिक, वह 8 अगस्त के बाद महाराष्ट्र छोड़ सकते हैं। उन्हें अपने रिटर्न टिकट के बारे में बीएमसी को जानकारी देनी होगी। बीएमसी का कहना है कि वह एयरपोर्ट तक प्राइवेट कार में जाएंगे और एसओपी का पालन करेंगे। इसके अलावा यात्रा के दौरान सभी नियमों का पालन भी विनय तिवारी को करना होगा।

इतना ही नहीं, बीएमसी ने विनय तिवारी को नियमों की जानकारी ना होने की बात कहकर हैरानी भी जताई है। गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने पटना में रिया चक्रवर्ती के खिलाफ मामला दर्ज कराया था, जिसकी जांच करने के लिए आईपीएस विनय तिवारी को मुंबई भेजा गया था। बता दें कि गुरुवार को मुंबई आई पटना पुलिस की चार सदस्यीय टीम बिहार लौट गई है।

Sushant Rhea

दरअसल आईपीएस विनय तिवारी जैसे ही मुंबई पहुंचे थे, उन्हें क्वारनटीन कर लिया गया थे। इसको लेकर बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस में ठन गई। हालांकि, बाद में मुंबई पुलिस ने अपने रोल से इनकार कर दिया। इसके बाद बिहार पुलिस ने बीएमसी को चिट्ठी लिखकर आईपीएस विनय तिवारी को तुरंत छोड़ने की अपील की थी।

वहीं सुशांत केस में ताजा जानकारी की बात करें तो ED ने सुशांत सिंह राजपूत की बिजनेस मैनेजर श्रुति मोदी को समन भेजा है। उन्हें शुक्रवार को यानी आज ईडी के सामने पेश होकर अपना बयान दर्ज कराना होगा। बता दें, श्रुति मोदी का नाम पटना में सुशांत सिंह राजपूत के पिता द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर में शामिल है। गुरुवार को जो FIR सीबीआई ने फाइल की है, उसमें भी श्रुति मोदी का नाम शामिल है।

वहीं सुशांत सिंह राजपूत केस में सीबीआई ने अपनी तरफ से जांच शुरू कर दी है। गुरुवार को सीबीआई ने सुशांत सिंह राजपूत केस में FIR दर्ज की। जिसमें रिया चक्रवर्ती समेत 6 लोगों को आरोपी बनाया गया। जांच के लिए सीबीआई ने SIT का गठन किया है। इस टीम को गुजरात केडर के आईपीएस मनोज शशिधर हेड कर रहे हैं। सुशांत केस में ईडी ने रिया चक्रवर्ती को 7 अगस्त को पूछताछ के लिए बुलाया है। रिया से उनकी प्रॉपर्टी और सुशांत संग लेन-देन को लेकर सवाल पूछे जा सकते हैं।

CBI Sushant singh

सूत्रों की माने तो सीबीआई पटना पुलिस से दस्तावेज हेडओवर लेगी। हालांकि, अभी सीबीआई जांच को लेकर सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई का इंतजार किया जा रहा है। इस मामले की जांच सीबीआई से करवाने को लेकर रिया के वकील ने एक बार फिर विरोध किया। उनका कहना है कि कानूनी तौर पर बिहार सरकार की सिफारिश पर सीबीआई जांच नहीं की जा सकती. इसके लिए महाराष्ट्र सरकार की सिफारिश जरूरी है।

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र और बिहार सरकार को जवाब देने के लिए वक्त दिया था। ऐसे में सीबीआई ने अपनी तैयारी कर ली है और अब सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई का इंतजार है। अगर सुप्रीम कोर्ट में फैसला केंद्र या बिहार सरकार के पक्ष में आता है तो सीबीआई जांच शुरू हो जाएगी। अगर नहीं आता है तो सीबीआई जांच नहीं कर पाएगी।