फ्रीडम हाउस की रिपोर्ट को बीजेपी ने नकारा बताया एजेंडे का हिस्सा 

33

हाल ही में यूएस स्थित फ्रीडम हाउस के थिंक टैंक ने हर साल की तरह इस साल भी दुनिया भर के देशों की नागरिक स्वतंत्रता को लेकर एक रिपोर्ट शेयर की है जिसमें भारत की रैंक पिछली बार से और नीचे लुढ़क गई है, इस थिंक टैंक ने ये दावा किया है कि भारत में रहने वाले कुछ लोगों के साथ भेदभाव हुआ है ये भेदभाव केन्द्र सरकार की नीतियों द्वारा किया गया है वहीं बीजेपी ने थिंक टैंक की इस रिपोर्ट को नकारा है और कहा है freedom house report भारत के विरुद्ध एक एजेंडा है।

बीजेपी ने फ्रीडम हाउस की रिपोर्ट को लेकर ये कहा 

बीजेपी के ओर से जारी बयान में कहा गया है कि मोदी सरकार भारत को आगे बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही, नई बुलंदियों की ओर अग्रसर है लेकिन पश्चिम देशों का एक तबका ऐसा नहीं चाहता है बीजेपी की ओर से राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने कहा देश में हर रोज कई टीवी चैनल्‍स में debate होती है, newspaper छापे जाते हैं उसमें सरकार की आलोचना भी की जाती है लेकिन और लोग खुलकर अपनी बातें अभिव्यक्त करते है लेकिन पश्चिम देशों के एक तबके को ये पसंद नहीं है और वह भारत विरोधी Agenda चलाना चाहता है। 

फ्रीडम
Aajtak

भारत के बारे में क्या लिखा है रिपोर्ट में. 

रिपोर्ट में ये कहा गया है कि भारत में लोकतंत्र होने के बावजूद बीजेपी की मोदी सरकार जो नीतियां बना रही है उसमें साफ धर्म विशेष भेदभाव झलकता है, वहीं इस दौरान जम्मू – कश्मीर में इंटरनेट बंद होने का भी जिक्र है वहीं लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों के सड़क में आ जाने को लेकर भी सवाल उठाए गए हैं।