बीजेपी मुझसे डरती है, सीबीआई, ईडी में अगर हिम्मत है तो मुझे छूकर दिखाए: टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी

सोमवार को जब केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के अधिकारी कोयला तस्करी मामले में तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी रूजिरा नरूला बनर्जी से पूछताछ करने के लिए उनके आवास पर पहुंचे, तो घटना के कुछ घंटे बाद अभिषेक बनर्जी ने दावा किया कि भाजपा उनसे डरी हुई है और उन्होंने केंद्रीय जांच एजेंसियों ईडी और सीबीआई को चुनौती देते हुए कहा अगर उनमें हिम्मत है तो मुझे छूकर दिखाए”।

ईडी ने न केवल उनकी पत्नी बल्कि अभिषेक बनर्जी से भी पश्चिम बंगाल में एक कथित कोयला घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में भी पूछताछ की थी।

त्रिपुरा में एक रैली को संबोधित करते हुए बनर्जी ने असम, त्रिपुरा और मेघालय में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए अपनी पार्टी पर भरोसा जताया।

अभिषेक बनर्जी ने कहा,“मुझे यकीन है कि भाजपा मुझसे डरी हुई है, इसलिए वे तृणमूल कांग्रेस को त्रिपुरा, असम और मेघालय में प्रवेश करने से नहीं रोक पाएंगे। ममता बनर्जी की पार्टी उन राज्यों में लोकतंत्र को फिर से स्थापित करेगी जहां लोकतांत्रिक मूल्यों को कुचल दिया गया है। ”

बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार पर निशाना साधते हुए बनर्जी ने कहा, “अगर उसके पास ईडी और सीबीआई है, तो हमारे पास लोगों का समर्थन है और लोकतंत्र में लोगों की आखिरी बात है।”

“टीएमसी और बीजेपी के बीच कोई तुलना नहीं है। तृणमूल कांग्रेस एक डीवीडी की तरह है जिसे सुना और देखा जा सकता है, जबकि बीजेपी एक ऑडियो सिस्टम है जिसे केवल सुना जा सकता है।

“भगवा पार्टी की ऑडियो नीति में मत फंसो, पहले उन्होंने हर साल दो करोड़ नौकरियां देने और देश में ‘अच्छे दिनों’ की शुरुआत करने का वादा किया था। यह आश्वासन दिया गया था कि नोटबंदी के बाद काला धन अतीत की बात हो जाएगा। लेकिन क्या देश से काला धन गायब हो गया है? महंगाई उन लोगों के लिए एक बड़ी समस्या बन गई है, जिन्होंने अच्छे दिन की उम्मीद में बीजेपी को वोट दिया था।

उन्होंने कहा, “आप नोट कर सकते हैं कि उपचुनाव का मुकाबला 2023 के विधानसभा चुनावों से पहले होगा, जिसमें राज्य में भाजपा की सरकार गिर जाएगी।”

बनर्जी ने कहा, “टीएमसी विकास संबंधी गतिविधियों को वापस लाने के लिए भाजपा के द्वारे गुंडा (दरवाजे पर गुंडागर्दी) संस्कृति के स्थान पर द्वारे सरकार (द्वार पर सरकार) स्थापित करना चाहती है।”

द्वारे सरकार योजना केवल पश्चिम बंगाल में मौजूद है जिसमें पार्टी विशिष्ट सरकारी योजनाओं को आम लोगों के दरवाजे पर पहुंचाती है।