Bihar Election : बिहार के कद्दावर नेता Raghuvansh Prasad Singh ने एक और चिट्ठी लिखी, CM Nitish के सामने रखी तीन मांगें

123

Bihar Election में अब मुश्किल से महीनेभर का समय रह गया है इसलिए बिहार का राजनीतिक पारा अपने चरम पर है, कल से ही बिहार की राजनीति में एक चिट्ठी बहुत चर्चा में थी, चिट्ठी लिखी थी RJD के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने लालू प्रसाद यादव को और अपना इस्तीफा दे दिया था, अब उन्होंने एक और पत्र लिखा है इसबार यह पत्र है बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नाम पत्र लिखा। उनका फिलहाल दिल्ली के एम्स में इलाज चल रहा है। अस्पताल से ही उन्होंने यह पत्र लिखा है।

माननीय मुख्यमंत्री, बिहारमाननीय सिचाई मंत्री, बिहार सरकारश्री प्रत्यय अमृत, प्रधान सचिव, बिहार सरकारके नाम पत्र

Posted by Dr. Raghuvansh Prasad Singh on Thursday, September 10, 2020

Bihar Election से पहले पत्र के माध्यम से वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने CM Nitish Kumar से जिन तीन कार्यों को वह पूरा नहीं कर पाए, उन तीन मांगों को पूरा करने का आग्रह किया है। बता दें इसके साथ ही उन्होंने सिंचाई मंत्री और बिहार के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत के नाम भी पत्र लिखा है।

Bihar Election
Photo – Social Media

Also Read – India ने मिलाया Japan से हाथ, China को सबक सिखाने की तैयारी

पहली मांग

CM नीतीश के नाम लिखे पत्र में वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने मांग करते हुए कहा कि “मनरेगा कानून में सरकारी और एससी-एसटी की जमीन में काम होगा’ क्या प्रबंध है, उस खंड में आम किसानों की जमीन में भी काम होगा, जोड़ दिया जाए। इस आशय का अध्यादेश तुरंत लागू कर आनेवाले आचार संहिता से बचा जाए। किसानों की जमीन को रकबा के आधार पर मजदूरों की संख्या को सीमित रखा जाए। मजदूरी में आधी सरकार और आधी मजदूरी किसान भी दे। यह काम छूट गया था। इसे करा दें।”

दूसरी मांग

Bihar Election से पहले लिखे पत्र में रघुवंश प्रसाद ने मांगा है कि ”वैशाली जनतंत्र की जननी है। विश्व का प्रथम गणतंत्र है, लेकिन इसके लिए सरकार ने कुछ नहीं किया है। इसलिए मेरा आग्रह है कि झारखंड राज्य बनने से पहले 15 अगस्त को मुख्यमंत्री पटना में और 26 जनवरी को रांची में राष्ट्रध्वज फहराते थे। इसी प्रकार 26 जनवरी को पटना में राज्यपाल और मुख्यमंत्री रांची में राष्ट्रध्वज फहराते थे।

उसी तरह 15 अगस्त को मुख्यमंत्री पटना में और राज्यपाल विश्व के प्रथम गणतंत्री वैशाली में राष्ट्रध्वज फहराने का निर्णय कर इतिहास की रचना करें। इसी प्रकार 26 जनवरी को राज्यपाल पटना में और मुख्यमंत्री वैशाली गढ़ के मैदान में राष्ट्रध्वज फहराएं। आप 26 जनवरी, 2021 को वैशाली में राष्ट्रध्वज फहराएं। इस आशय की सारी औपचारिकताएं पूरी हैं। फाइल मंत्रिमंडल सचिवालय में लंबित है। केवल पुरातत्व सर्वेक्षण से अनापत्ति प्रमाण पत्र आना बाकी था, जो आ गया है। आग्रह है कि कृपा कर आप इसे स्वीकृत कर दें।”

तीसरी मांग

वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने अपनी तीसरी मांग पूरी करने की अपील करते हुए भगवान बुद्ध का पवित्र भिक्षापात्र अफगानिस्तान से वैशाली लाने का जिक्र किया है।