कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कारण विकास दुबे नहीं बल्कि चित्रकूट में साधू बनकर रह रहा ये शख्स था!

कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद विकास दुबे के नाम की सनसनी फैल गई। हर तरफ विकास की चर्चा होने लगी, पुलिस भी उसकी तलाश जोरशोर से करने लगी। उसके पकड़े जाने तक उसके कई साथी पुलिस एनकाउंटर में मार दिए गए। आखिरकार जब विकास दुबे उज्जैन में कथित रूप से पकड़ा गया तो कानपुर लाते वक्त वो भी एनकाउंटर में मार दिया गया। इस मामले में हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। पुलिस से मेलजोल के अलावा विकास दुबे के मामले में अब एक नाम बाल गोविंद का सामने आया है, जिसके लेकर कहा जा रहा है कि बिकरू गांव में मारे गए 8 पुलिसकर्मियों की हत्या का कारण विकास दुबे नहीं बल्कि बाल गोविंद था। आइए समझते हैं कि आखिर बाल गोविंद इस मामले का सूत्रधार कैसे बना।

दरअसल बिकरू गांव में हुए कांड के बाद चित्रकूट में साधु बनकर रह रहा बाल गोविंद पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। उसने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बताया कि, उसके दामाद और राहुल तिवारी के बीच जमीन को लेकर झगड़ा चल रहा था। बाल गोविंद विकास का करीबी था, इससे वह भी इसमें शामिल हो गया। उसने राहुल तिवारी का अपहरण कराने के साथ मारपीट की थी। इसके बाद ही राहुल ने विकास दुबे समेत अन्य के खिलाफ एफआईआर लिखवाई। इसी मामले में पुलिस विकास दुबे के यहां छापेमारी करने गई थी, जब आठ पुलिसकर्मियों की बेरहमी से हत्या कर दी गई।

Bal govind

बाल गोविंद ने पुलिस को बताया है कि, उसकी बेटी समीक्षा उर्फ तनु की शादी मोहिनी निवादा निवासी विनीत से हुई है। राहुल तिवारी विनीत का सगा बहनोई है। दोनों के बीच जमीन पर कब्जे को लेकर झगड़ा चल रहा था। दरअसल जमीन विनीत के पिता यानी राहुल के ससुर की है। बाल गोविंद का पक्ष जमीन को विनीत के नाम कराना चाह रहा था। इस पर कब्जा कायम रखने के लिए बाल गोविंद के बेटे शिवम ने जोत भी दिया था, जबकि राहुल जमीन पर अपना हक जता रहा था।

जमीन को लेकर जब विवाद बढ़ता गया बाल गोविंद ने विकास दुबे से मदद मांगी। जिसके बाद विकास दुबे ने पूर्व एसओ चौबेपुर विनय तिवारी से बात की। तो एसओ ने समझौता कराने की जिम्मेदारी उठाई थी। 2 जुलाई की सुबह ही पूर्व एसओ राहुल तिवारी को बिकरू में बाल गोविंद के घर ले गया था। वहां पर विकास दुबे, हीरू दुबे, शिवम दुबे, अमर, प्रभात आदि मौजूद थे। समझौते पर बात होनी थी मगर इन लोगों ने मिलकर राहुल को पीट दिया। इसके बाद उसने चौबेपुर थाने में बंधक बनाने और जान से मारने के प्रयास की धाराओं में तहरीर दी। इस पर रात में मुकदमा कायम हुआ और देर रात पुलिस बिकरू में दबिश देने पहुंच गई।

Bal govind Vikas Dube

राहुल तिवारी और विनीत के बीच झगड़े का एक कारण और था कि एफआईआर लिखाने वाले राहुल तिवारी ने विनीत की बहन से 26 अप्रैल 2020 को भगाकर शादी की थी। जमीन के अलावा अपने साथ हुई इस घटना को लेकर भी विनीत राहुल से नफरत करता था। बिकरू गांव में क्या हो रहा है, और कैसी गतिविधियां चल रही हैं, इसकी सारी जानकारी बाल गोविंद अपनी छोटी बेटी स्वाति से लेता था। पुलिस के मुताबिक चार दिन से स्वाति लापता है। उसकी तलाश की जा रही है। सूचना मिली है कि वह अपने किसी रिश्तेदार के यहां गई है। वहीं इस मामले में बाल गोविंद का बेटा शिवम भी नामजद है और उसकी भी तलाश की जा रही है।