योगी आदित्यनाथ से पहले भी दो मुख्यमंत्रियों को चुनौती दे चुके हैं बाहुबली नेता विजय मिश्रा

उत्तर प्रदेश में बाहुबलियों के खिलाफ हल्ला बोला जा रहा है लेकिन अपराध पर लगाम कितना है ये भी तो आप देख ही रहे होंगे! उत्तर प्रदेश के बाहुबली विधायक विजय मिश्र इस समय पुलिस हिरासत में हैं. गिरफ्तारी से अब तक मिश्रा को तीन जेलों में भेजा जा चुका है. मिश्रा भदोही से प्रयागराज के नैनी और प्रयागराज से अब चित्रकूट जेल में भेज दिए गये हैं. विजय मिश्रा योगी आदित्यनाथ से पहले भी दो मुख्यमंत्रियों को चुनौती दे चुके हैं.

तीसरे जेल में शिफ्ट किये गये बाहुबली विधायक 

आपको बता दें कि गिरफ्तारी के बाद मिश्रा को भदोही जेल में रखा गया था, हालाँकि भदोही की जेल नेता जी को रख पाने में सक्षम नही थी. जिसके बाद उन्हें बाद नैनी भेजा गया फिर वहां से चित्रकूट भेज दिया गया. जानकारी के लिए बता दें कि मायवती के शासन में विजय मिश्र को मेरठ जेल में तन्हाई में रखा गया था. उस समय उन्होंने मायावती को चुनौती देकर सपा से ताल ठोंकी थी. टिकट कटने के बाद बड़ी संख्या में समर्थकों संग बैठक कर उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को भी ललकारा था. पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह के करीबी होने के कारण सपा शासन में उनकी तूती बोलती थी. इसके बाद साल 2017 में अखिलेश यादव ने इन्हें समाजवादी पार्टी से ही बाहर कर दिया गया था जिसके बाद विजय मिश्र ने अखिलेश यादव के खिलाफ हमला बोला था.

चौथी बार विधायक बने हैं विजय मिश्रा 

आपको बता दें कि चुनाव में विजय मिश्रा को हराने के लिए मायावती, अखिलेश यादव और बीजेपी के चाणक्य बने अमित शाह भी रैली कर अपील कर चुके हैं लेकिन किसी की एक न चली, वे लगातार विधायक चुने जाते रहे हैं. अब आप विजय मिश्रा की हैसियत और पैठ का अंदाजा लगा सकते हैं. वहीँ अब योगी सरकार की पुलिस विजय मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई कर रही है. हालाँकि पहले ही विधायक को कार्रवाई का अंदाजा हो गया था.

हालाँकि अब विजय मिश्रा के खिलाफ पुलिस बड़ी कार्रवाई कर रही है. मिश्रा को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है, उनके करीबियों और समर्थकों पर भी कार्रवाई कर रही है. इसके बाद विजय मिश्रा की मुश्किलें बढ़ चली हैं. हालाँकि विजय मिश्रा को तीसरे जेल में शिफ्ट किये जाने के बाद ये सवाल उठता है कि उत्तर प्रदेश में जेल व्यवस्था कैसी है?