उत्तर प्रदेश : बीजेपी नेता की गाड़ी का पुलिस ने किया चालान तो दी खुलेआम ट्रांसफर करवाने की धमकी

एक तरफ जहाँ आम इंसान पर लापरवाही बरतने या कानून तोड़ने पर जुर्माना भरना पड़ता है तो वहीँ नेताओं के लिए तो मानो ये सब खिलावाड़ है. बदायूं में जब एक भाजपा नेता का चालान कर दिया गया तो इतना बौखला गये कि उन्होंने पुलिस अधिकारी का ट्रान्सफर करवा देने का धमकी तक दे डाले. नेता जी ने ये भी नही सोचा कि आखिर वहां कौन-कौन मौजूद है और ऐसे में मुझे बोलना क्या चाहिए!

पुलिस ने चेकिंग के लिए रोका तो बीजेपी नेता का चढ़ गया पारा 

आपको बता दें कि बदायूं के उघैती मंडल अध्यक्ष महेश शर्मा का उप निरीक्षक सुशील पंवार ने चालान कर दिया. इसके बाद तो बवाल खड़ा हो गया. हंगामा होने लगा. पुलिस पर लाइसेंस हेलमेट छीनने का आरोप लगा दिया. तीन दिन में थाने से ट्रांसफर कराने की चेतावनी भी दे डाली. काफी नोकझोंक के बीच मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई, मामले की खबर मिलने के बाद सीओ बिल्सी संजय कुमार सिंह मौके पर पहुंच गए.

खुलेआम धमकी, तीन दिन के अंदर हो जाएगा ट्रान्सफर? 

दरअसल नेता जी उसी सड़क से गुजर रहे थे जहाँ पर चेकिंग लगाईं गयी थी, पुलिस ने उन्हें भी रोक लिया और इसके बाद नेता जी का पारा चढ़ गया और आवेश में आ गये. इसके बाद नेता जी पुलिस के टोके जाने से इतना खफा हो गये कि उन्होंने तीन दिन के अंदर ट्रान्सफर करवा देने की धमकी दे डाली, वो भी खुलेआम! वहीँ एसआई सुशील पवार ने बताया, पुलिस अधिकारियों के निर्देश पर रूटीन चेकिंग कर रही थी लेकिन भाजपा नेता ने परिचय दिए बगैर अभद्रता शुरू कर दी.

भरी सभा में ट्रान्सफर करवा देने का एलान 

दरअसल बताया जा रहा है कि जब नेता जी को पुलिस ने रोका तो नेता जी भड़क गये और बाइक को आग लगा देने की बात कहने लगे. एसआई समझाने पहुंचे तब उनसे भी भिड़ गए. इसके बाद पुलिस ने अपनी फजीहत होती देख नेताजी की गाड़ी का चालान कर दिया. ये सब घटना देखने के लिए लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गयी थी. अब नेता जी इज्जत पर आगयी थी तो नेता जी ने भी भरी सभा में कह ही दिया कि तीन दिन के अंदर ट्रान्सफर करवा दूंगा!