Ayodhya: मंदिर शिलान्यास से कांग्रेस खेमे के मुस्लिम लीडर्स नाराज

राम मंदिर शिलान्यास के बाद पूरे देश में जश्न का माहौल देखने को मिल रहा है परंतु कांग्रेस के मुस्लिम खेमे में बेचैनी और निराशा है। इन पक्षकारों का कहना है कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार निर्मित मंदिर के खिलाफ नही हैं परंतु पार्टी और कुछ नेताओं को अल्पसंख्यकों की भावनाओं को प्रतिबिंबित करना चाहिए था।

पूर्व अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री रहमान खान ने कहा “पार्टी के भीतर चल रहे वैचारिक परिवर्तन को देखते हुए निराश हूं, पार्टी अपने मूल्यों को भूल रही है ”  साथ ही वह पूर्व सीएम कमलनाथ के उस बयान से भी परेशान थे जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने राम मंदिर के ताले खोले थे’।

वहीं पूर्व विदेश मंत्री रहे सलमान खुर्शीद ने कहा “मुझे कोई समस्या नहीं है अगर मेरे कोई भी साथी फैसले का एक हिस्सा मनाते हैं। लेकिन मैं उम्मीद करूंगा कि जब फैसले के दूसरे हिस्से को लागू किया जाएगा तो वे इसका भी जश्न मनाएंगे। और यह सिर्फ मेरी अपनी पार्टी के लिए ही नहीं बल्कि प्रधानमंत्री के लिए भी है। 

योगी नें मस्जिद जाने से किया साफ इनकार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक इंटरव्यू में कहा कि वह मस्जिद के उद्घाटन में शामिल नहीं होगा, भले ही उन्हें आमंत्रित क्यो ना किया जाए। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें ऐसे स्थानों पर कोई आमंत्रित भी नही करेगा। “बतौर एक मुख्यमंत्री के रूप में, मैं किसी भी धर्म या समुदाय से परहेज नहीं करता, परंतु एक योगी होनें के भांति मैं निश्चित रूप से नहीं जाऊंगा। मैं नहीं जाऊंगा क्योंकि मैं हिंदू हूं। एक हिंदू के रूप में, मुझे धार्मिक नियमों के अनुसार पूजा करने और जीवन जीने का अधिकार है “