Home विचार/मत राज्य सरकार की अनोखी पहल: प्लाज्मा दान करने वाले को न केवल...

राज्य सरकार की अनोखी पहल: प्लाज्मा दान करने वाले को न केवल हवाई जहाज से बुलाया जायेगा बल्कि राजकीय अतिथि का दर्जा भी मिलेगा !

कोरोना वायरस का खतरा देश मे दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है. इस बीच असम सरकार के एक अनोखे  पहल की चर्चा इस समय चारों तरफ है. दरअसल राज्य सरकार कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों को प्लाज्मा दान करने पर हवाई जहाज से बुलायेगी. इन लोगों को राज्य मे राजकीय अतिथि का दर्जा भी दिया जायेगा. राज्य सरकार में स्वास्थ्य मंत्री हेमंत विस्व सर्मा ने घोषणा की है कि कोरोना से स्वस्थ हो चुके लोगों को अन्य राज्य से आने पर उन्हें हवाई जहाज के टिकट और ठहरने की व्यवस्था की जायेगी. इतना ही नही उन्हें राज्य में राजकीय अतिथि का दर्जा दिया जायेगा. बता दें कि असम राज्य कोरोना मरीजों की संख्या के मामले में देश में 13 वें नंबर पर है.

प्लाज्मा दान करने वालों को हवाई जहाज से लाया जायेगा

कोरोना वायरस पूरे देश में कहर ढा रहा है. दिन प्रतिदिन मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है. इस बीच असम राज्य ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए अनोखी पहल की है. कोरोना से ठीक हो चुके लोगों द्वारा प्लाज्मा दान करने पर उन्हें प्लेन से राज्य में लाया जायेगा. राज्य के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हेमंत विस्व सर्मा ने कहा कि कोरोना से ठीक हो चुके लोग दूसरे राज्यों से आकर यहां कोरोना से लड़ रहे संक्रमित रोगियों के लिए प्लाज्मा दान कर सकते हैं.

उन्होंने कहा कि- इसके लिए हम राष्ट्रव्यापी अभियान चलायेंगे और दूसरे राज्य के प्लाज्मा दान करने वाले लोगों के लिए राजकीय अतिथि का दर्जा देते हुए उन्हें आने-जाने का टिकट और तथा ठहरने की सुविधाएं प्रदान की जायेगीं.

प्लाज्मा बैंक में होगी जरुरत

हेमंत विस्व सर्मा के अनुसार असम में शुरुआत मे कोविड-19 के मामले बहुत ही कम थे लेकिन अब इसकी संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है इस कारण प्लाज्मा की जरुरत ज्यादा होगी इसीलिए यह फैसला लिया गया है. बता दें कि अब तक असम में 20646 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाये गए हैं. जिसमें से 50 की मौत हो चुकी है. देश मे सबसे अधिक कोरोना प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है जहां कोरोना के 2 लाख 76 हजार कन्फर्म मरीज पाए गए हैं, जिसमें से 10928 की मौत हुई है.

हेमंत विस्व सर्मा

सर्मा ने कहा कि ‘हमने अपने प्लाज्मा बैंक अभियान को मजबूत करने का फैसला किया है और कोरोना वायरस संक्रमण से उबर चुके लक्षण वाले सभी लोगों से इस अभियान में शामिल होने की अपील करते हैं.’

प्लज्मा कार्ड दिया जायेगा

असम राज्य कोरोना से स्वस्थ हो चुके लोगों को अस्पताल से छुट्टी देते समय प्लाज्मा कार्ड प्रदान करेगी. इस कार्ड का उपयोग कर वह 28 दिन के अंदर प्लाज्मा दान कर सकते हैं. उनके अनुसार प्रत्येक व्यक्ति 400 ग्राम प्लाज्मा दान कर सकता हैं. इसका उपयोग दो कोविड-19 रोगियों के उपचार में किया जा सकेगा. इसके लिए गुवाहाटी मेडीकल कॉलेज में प्लाज्मा बैंक चल रहा है.

असम राज्य का यह फैसला अन्य राज्यों के लिए मिशाल हो सकता है. पिछले कुछ दिनों से देश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ी है ऐसे में जरुरी है कि राज्य स्तर पर इस तरह के फैसले लिए जाएं जिससे कि कोरोना से लड़ने में सहूलियत हो. खासकर कोरोना जैसे मामलों में लोगो को जागरुक करने की भी जरुरत है.