कृषि विधेयक के विरोध में आज किसानों ने बुलाया भारत बंद, 18 राजनीतिक दलों का समर्थन !

केन्द्र सरकार की तरफ से लाए गए कृषि बिल के विरोध में आज देश के कई राजनीतिक दलों सहित किसान संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया है. इस बंद में दिल्ली, पंजाब, हरियाणा औऱ राजस्थान के किसान हिस्सा ले रहे हैं. इसके अलावा पंजाब में किसान 24 अक्टूबर से 26 अक्टूबर तक रेल रोको आंदोलन भी चलाएंगे. किसानों द्वारा बुलाए गए भारत बंद को कांग्रेस समेत कई राजनीतिक दलों ने समर्थन दिया है.

भारत बंद
Photo-india.com

किसानों का आज ‘भारत बंद’

पिछले दिनों संसद में सरकार द्वारा पारित कृषि बिल के विरोध में आज किसान संगठनो ने भारत बंद बुलाया है. भारतीय किसान यूनियन, अखिल भारतीय किसान संघ, अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति सहित करीब दो दर्जन किसान संगठन इस बंद में शामिल हो रहे हैं. खबरों के अनुसार पंजाब और हरियाणा के 31 किसान संगठन पहले से ही इस बिल का विरोध कर रहे हैं. भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत का कहना है कि 25 सितंबर को किसानों का कर्फ्यू होगा. जब तक सरका MSP  के आधार पर उपज की खरीद की गारंटी कानून में नही देती तब तक हमारा आंदोलन चलता रहेगा.

इन बड़े दलों का समर्थन

कृषि बिल का विरोध कर रहे किसानों को कांग्रेस सहित 18 राजनीतिक दलों का समर्थन मिला हुआ है. इसमें टीएमसी, वामदल, आप, और टीआरएस जैसे दलों के अलावा कांग्रेस भी बंद का समर्थन कर रहे हैं. उधर पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने भी लोगों से किसानों का समर्थन करने और हड़ताल को सफल बनाने का अनुरोध किया है. शिरोमणि अकाली दल ने भी सड़क बंद करने की घोषणा की है.

Also read- Railways cancels 14 pairs of trains of Punjab route in view of farmers’ protest

बता दें कि सरकार ने 20 सितंबर को संसद में तीन कृषि सुधार विधेयकों को पारित किया है. जिसमें कृषि उत्पादन व्यापार और वाणिज्य विधेयक 2020, मूल्य आश्वासन पर किसान समझौता और कृषि सेवा विधेयक 2020 शामिल हैं. किसानों का कहना है कि पारित बिल उनके खिलाफ हैं. इससे न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था खत्म हो जाएगी और कृषि क्षेत्र बड़े पूंजीपतियों के हाथों में चला जाएगा.