बेटे जी रहे थे आलीशान जिंदगी लेकिन बूढ़ी मां ले रही थी सड़कों पर सांसे, सिर में पड़े थे कीड़े

बेटों की चाहत रखने वालों के लिए ये खबर उन्हें अंदर से हिलाकर रख देगी। दरअसल समाज में कई ऐसे लोग है जो संतान के लिए सबकुछ करने को तैयार रहते हैं लेकिन जब उसी संतान की सेवा करने की बारी आती है तब वो मुंह फेर लेते हैं। घटना है पंजाब के बठिंडा की। एक 80 साल की बुजुर्ग महिला जिसके दो बेटे समाज में अच्छा रसूख रखते हैं, वो सड़कों पर सांसे लेने की हालत में मिली। तन पर ठीक से कपड़ा भी नहीं, और उसके सिर में कीड़े नजर आ रहे थे।

Old Woman Punjab

दरिद्र अवस्था में मिली इस महिला को एनजीओ और पुलिस की मदद से लोगों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। इसके परिवार को लेकर जब पता लगाया गया तो लोगों के होश उड़ गए। पता लगा कि 80 साल की बुजुर्ग एक बेहद अच्छे परिवार की महिला थी। उसका एक बेटा बड़ा सरकारी अफसर है और दूसरा बड़ा राजनेता है। मुक्तसर गांव की ओर जाती हुई सड़क के किनारे बने खुले मैदान में बुजुर्ग पड़ी हुई मिली। बूढ़ी महिला के सिर में कीड़े पड़े हुए थे और उसकी हालत बहुत खराब थी। जैसे ही लोगों ने महिला को देखा तो उन्होंने तुरंत एनजीओ और पुलिस को मामले की जानकारी दी।

बूढ़ी महिला की जानकारी मिलते ही एनजीओ और पुलिस मौके पर पहुंची। महिला की हालत देख उसे तुरंत ही सिविल हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया। लोगों का कहना है कि महिला काफी दिनों से सड़क किनारे खाली मैदान में ईंटों की झोपड़ी बनाकर रह रही थी। लोगों ने जब महिला को देखा तो उसकी दयनीय स्थिति देखकर आंखों में आंसू आ गए। जहां एक तरफ उसके बेटे आराम की जिंदगी बिता रहे थे वहीं उन्हे जन्म देने वाली महिला की जिंदगी नर्क से भी बदतर हो गई थी। उसे कोई पूछने वाला नहीं था।

Old Lady Punjab

सिर्फ बेटे ही नहीं बल्कि उसकी पोती भी पुलिस महकमे में एक ऑफिसर है। बता दें बीते शुक्रवार को एनजीओ ने बूढ़ी महिला को अस्पताल में भर्ती कराया था, जिसके बाद इस मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वायरल वीडियो को देखकर लोगों ने बूढ़ी महिला के परिवार की जानकारी दी। इसके बाद बूढ़ी महिला को एक बेटा अपने साथ फरीदकोट ले गया लेकिन सोमवार सुबह उनकी मौत हो गई, जिसके बार परिवार ने गुपचुप तरीके से महिला का अंतिम संस्कार कर दिया। महिला की पोती एक पुलिस अफसर है जिसकी वजह से पुलिस भी इस मामले में कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं है और न ही किसी ने मामला दर्ज कराया। साथ ही परिवार के सदस्य भी सवालों से बचते हुए नजर आए।

Punjab Road Old Woman

वहीं, इलाके के लोग कई तरह के सवाल उठा रहे हैं। उनका कहना है कि आखिर दोनों बेटों ने अपनी मां को ऐसी हालत में कैसे छोड़ दिया। सवाल हर किसी से बनता है कि आखिर क्या इसीलिए मां-बाप संतान की उम्मीद करते हैं कि जब वो बूढ़े हो जाएं तो उन्हें सड़कों पर छोड़ दिया जाए? क्या समाज में मां-बाप भगवान का रूप होते हैं, ये सोच खत्म होती जा रही है? अपनी राय हमें कमेंट बॉक्स में जरूर दें…।