तलवार से केक काटना पड़ा भारी, आर्म्स ऐक्ट के तहत एफआईआर हुई दर्ज, जानिए पूरी खबर!

महाराष्ट्र के पुणे में एक चौका देने वाली घटना सामने आई है। पाँच युवाओं ने तलवार से काटा केक। पाँचों के खिलाफ पुलिस ने आर्म्स ऐक्ट के तहत केस दर्ज किया है।

mumbai
Credits loksatta

आर्म्स ऐक्ट नहीं होगा लागू!

भोसारी महाराष्ट्र इंडस्ट्रियल डिवेलपमेंट कॉर्पोरेशन पुलिस ने इस मामले को दर्ज किया। युवाओं के ऊपर तलवार से केक काटने का आरोप लगा है। इसमें एक युवक को गिरफ्तार कर लिया था। हालांकि दो ने कोर्ट में अपील करके आर्म्स ऐक्ट के तहत कार्रवाई किए जाने को चुनौति दी है। इसके साथ उन्होंने कोर्ट में इंटरिम जमानत याचिका भी दर्ज की है। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा है कि तलवार से केक काटना आर्म्स ऐक्ट के तहत नहीं आता है।

क्या था पूरा मामला?

यह मामला 5 अक्टूबर का है जब बालाजी चौक पर आरोपी एकत्र हुए और वहाँ तलवार से केक काटा। यह केक स्वप्निकल पोतभरे के जन्मदिन का था। बता दें कि इस केक कटिंग की तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी काफ़ी वायरल हुई हैं। इस मामले को पिंपरी चिंचवाड पुलिस कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने संज्ञान में लिया और 18 अक्टूबर को एफआईआर दर्ज हुई।

Also read: यूपीआई से हो रही है अरबों की लेनदेन, जानिए ज़रूरी बातें नहीं तो हो सकता है आपका नुक़सान!

दो आरोपियों ने की इंटरिम जमानत दायर!

स्वप्निल, महेंद्र सारावडे, सलीम शेख, अभिशेक देवकर और तीन अन्य लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं समेत आर्म्स ऐक्ट की धाराएं भी लगाई गई है। बता दें की तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। लेकिन सारावडे और देवकर ने इंटरिम जमानत के लिए याचिका दायर की हुई है।

आरोपियों को नोटिस तक नहीं दिया

आरोपी पक्ष के वकील उमेश गावली का कहना है कि पुलिस ने आरोपियों को कोई नोटिस तक नहीं दिया। पंचनामा में तलवार बरामदगी की बात भी नहीं कही गई है। अपराध और तथ्य से एफआईआर में दर्ज धाराएं मेल नहीं खाती हैं।

Also read: यहाँ आजादी के दीवाने ही नहीं बल्कि पुलिस भी मानी जाती है शहीद, आइए जाने चौरी चौरा काण्ड का पूरा सच!