राजस्थान में फिर दिल दहलाने वाली घटना आई सामने, तनख्वाह माँगने पर ज़िंदा जलाकर शव को रखा डीप फ्रीजर में!

राजस्थान में एक बार फिर दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। कुमपुर गांव में पांच महीने से तनख्वाह माँग रहे शराब ठेके के सेल्समैन की शनिवार शाम जिंदा जलाकर हत्या कर दी गई। आपको बता दे की राजस्थान के करौली में एक पुजारी को जिंदा जलाकर मार दिया गया था। जिस के मात्र 18 दिन बाद यह मामला सामने आया है।

Rajasthan
Credits Dainik Bhaskar

5 महीने से नहीं दी थी तनख्वाह!

थाना प्रभारी दारा सिंह ने बताया, मृतक के भाई, झाड़का निवासी रूप सिंह धानका ने रिपोर्ट दर्ज कराई। उन्होंने बताया है कि उनका भाई, कमल किशाेर (23) शराब ठेका संचालक राकेश यादव और सुभाषचंद के यहां काम करता था। यह ठेका कुमपुर-भगेरी माेड़ पर एक कंटेनर में चलाया जा रहा था। ठेकेदार ने कमल को 5 महीने से तनख्वाह नहीं दी थी।

डीप फ्रीजर में मिला शव!

रूप सिंह ने कहा कि ठेकेदार तनख्वाह माँगने पर भाई से मारपीट करते और धमकी देते थे। शनिवार शाम को लगभग 4 बजे, ठेकेदार राकेश और सुभाष घर आए और उसे साथ ले गए। उस रात कमल घर नहीं आया। फिर रविवार सुबह को पता चलता है कि कुमपुर शराब ठेके में आग लग गई है। परिवार और पुलिस के पहुँचने पर लोहे के कंटेनर को खुलवाया गया। कंटेनर के अंदर जो था उसे देख कर सबके होश उड़ गए। उस कंटेनर में कमल का जला हुआ शव डीप फ्रीजर के अंदर बैठी हुई अवस्था में मिला।

मामला हुआ दर्ज!

माना जा रहा है कि राकेश और सुभाष ने ही कमल को पेट्राेल डालकर जिंदा जलाया और फिर कंटेनर में आग लगा दी। परिजनों की शिकायत पर दोनों के खिलाफ हत्या करने और एससीएसटी एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।बता दें कि सुभाष यादव भेड़टा श्योपुर और ठेकेदार राकेश यादव फतियाबाद के निवासी हैं।

Also read: एक बार फिर शर्मसार हुआ पंजाब, जन्‍मदिन की पार्टी से लौट रही युवती को कार में बिठा कर किया रेप।