पहली महिला पायलट Gunjan Saxena नही बल्कि काई और है !

भारत की पहली एयरफोर्स पायलट गुंजन सक्सेना की जिंदगी पर आधारित बायोपिक ‘गुंजन सक्सेना -द करगिल गर्ल’ विवादो के घेरे में है. इंडियन एयर फोर्स में गुंजन सक्सेना के साथ सेवा करने वाली एक सेवानिवृत्त IAF पायलट विंग कमांडर नमृता चंडी ने जान्हवी कपूर को हालिया बायोपिक के लिए लताड़ा है और कहा कि यह गुंजन की उपलब्धियों और महिला अधिकारियों के वायु सेना के बर्ताव दोनों को गलत तरीके से दर्शाती है। उन्होंने जान्हवी कपूर को भविष्य में ऐसी फिल्में न करने की सलाह भी दी है।

नमृता ने कहा ” मैंने इस फिल्म को देखा है और इस फिल्म में किसी एक की फेक इमेज को बनाने के लिए वायुसेना की इमेज के साथ खिलवाड़ किया गया है। उन्होंने कहा कि किसी भी फिल्म मेकर को सिनेमैटिक लिबर्टी और क्रिएटिव फ्रीडम के नाम पर झूठ नहीं दिखाना चाहिए .मैं खुद एक हेलीकॉप्टर पायलट रही हूं और वायुसेना में 15 साल की सेवा के दौरान मुझे किसी ऐसे दुर्व्यवहार का सामना नहीं करना पड़ा जैसा फिल्म में दिखाया गया है। उन्होंने मेल ऑफिसर्स को ज्यादा प्रोफेशनल और जेंटलमैन बताया “.

Credit: India TV

उनका कहना है कि फिल्म में यह झूठ दिखाया गया है कि कारगिल में फ्लाई करने वाली पहली महिला पायलट गुंजन सक्सेना थी जबकि सच्चाई यह है कि वह महिला पायलट श्रीविद्या राजन थी। फिल्म में जिस तरह वायुसेना की नकारात्मक छवि और महिला पायलटों के साथ पुरुष साथियों का व्यवहार दिखाया गया है उसे देखकर भविष्य में कोई भी लड़की वायुसेना में जाने के बारे में नहीं सोचेगी।

वहीं बॉलीवुड कि सबसे धाकड़ माने-जाने वाली एक्ट्रस कांगना रनौत नें करण जौहर प्रोडक्शन गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल पर तंज कसते हुए एक कविता अपने ट्वीटर पर साझा कि है.