अयोध्या: भक्तो ने भेजा इतना सोना-चांदी कि केंद्रीय बल को करनी पड़ रही सुरक्षा

राममंदिर (Rammandir) भूमिपूजन कि तारीख़ जैसे-जैसे नजदीक आ रही है देश और दुनिया से मंदिर निर्माण के लिए सहयोगियों का ताता त्यों-त्यों बढ़ता जा रहा है। मात्रा इतनी कि बैंक चिंतित होकर कह रहा है ‘इतना बड़ा लॉकर कहां से लाएं ’। आलम यह है कि अब वीआईपी की सुरक्षा के साथ केंद्रीय बलों को सोने-चांदी की ईंट और जेवरात की भी रक्षा करनी पड़ रही है।

Source: India.com

देशभर में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण को लेकर काफी उत्सुकता है। पांच अगस्त को स्वमं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन करने के साथ मंदिर का शिलान्यास भी करेंगे। यूँ तो कोरोना के चलते लोगों को आर्थिक समस्याओं से गुजरना पड़ा रहा है, लेकिन फिर भी राम भक्तों नें मंदिर निर्माण के लिए अलग-अलग रूप में सोने-चांदी के साथ-साथ भारी मात्रा में जेवरात भेजने का सिलसिला जारी रखा है। कोरोना संकट के चलते श्रद्धालु खुद तो नहीं आ पा रहे हैं, लेकिन स्पीड पोस्ट के जरिए नदियों का जल और पविरत्र स्थलों कि मिट्टी आयोध्या जरूर पहुँचा रहे हैं।

Champat Rai (Source: ThePrint)

सोने-चांदी कि अत्याधिक मात्रा को देखते हुए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपतराय ने लोगों से आग्रह किया कि मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट को धन कि अवश्यक्ता है चांदी कि नहीं, इसलिए चांदी के बराबर रुपया बैंक में जमा करवाएंकुछ लोगों ने सोना दान करने की बात की, आखिर इनकी गुणवत्तात की जांच और तोल कैसे होगी ? ” उन्होंने रामभक्तों से आग्रह किया कि शाम को अपने घरो पर दीपक जलाकर इस भव्य अवसर का स्वागत करें।